Sale!

Dhawda Gond (Edible Gum) Pack of 2 (100gm X 2)

250.00 200.00

  • Original Dhawda Gond (Anogeissum latifolia) from Satpuda Mountains
  • Helps lubricating joints. Promotes youthfulness. 

  • FREE Delivery. 
  • Order Gets Delivered within 5 Days Across India
  • You will receive courier details by text message after your order gets dispatched
Add to Wishlist
Add to Wishlist
SKU: B08NZW2CNM Category: Tag:

Description

(Anogeissum latifolia) has an age old reputation for its excellent qualities being specially used for making Laddu’s for consuming after pregnancy. Dhavada Gum is rich in protein and completely soluble for post-partum women’s weak muscles and tissues. It is a Natural tonic for body, Improves general health. It also Helps in lubricating joints Aids removal of sputum from the air pathway. This Dhawda Gum is natures gift collected from SATPUDA MOUNTAINS region of Maharashtra state. It’s pure and in best condition.

धावडा गोंद के फायदे:

1.यदि आप हमेशा के लिए अपने आप को जवान दिखना चाहते हैं तो आपको एक गिलास दूध में गोंद और मिश्री डालकर रोज रात को ये वाला दूध पीना चाहिए इससे आपकी शारीरिक कमजोरी जल्द खत्म होगी।
2.नियमित रूप से गोंद का सेवन करने से आपके शरीर में तेजी से ऊर्जा आनी शुरू होगी। गोंद खाने से पुरूषों को भी कई प्रकार के स्वास्थ्य लाभ होंगे।
3.यदि किसी व्यक्ति को ब्लड प्रेशर की परेशानी है तो उसे पानी में गोंद और मिश्री मिलाकर इसका घोल बनाकर पी लेना चाहिए इससे ब्लड प्रेशर नियंत्रित रहता है।
4.यदि आपको हाथ-पैरों में जलन की परेशानी रहती है या फिर शरीर में कंपन सा महसूस होता है तो 2 चम्मच गोंद कतीरा को 1 गिलास पानी में रात को सोने से पहले मिलाकर पी लें।
5.गर्मी की वजह से चक्कर आना या उल्टी माइग्रेन का दर्द हो तो आप गोंद खा ले। इससे आपको जल्द ही फायदा होगा। इसके लिए आप आधा गिलास दूध में गोंद कूटकर डालें और मिश्री डालकर इसका सेवन करें।
6.गोंद को खाने से शरीर में भरपूर मात्रा में प्रोटीन और फॉलिकी एसिड प्रदान होता है। गोंद खाने से आप अपने शरीर में खून को गाढ़ा कर सकते हैं साथ ही इससे खून की कमी भी नहीं होती है।
7.अगर आपको टांसिल की परेशानी है तो आप गोंद और मिश्री का शरबत बनाकर इसका प्रयोग करें। ऐसा करने से गले में हो रहे हर प्रकार के रोग से लाभ मिलता है।
8.गोंद खाने से कमर दर्द होने वाले लोगों को राहत मिलता है। आपको करना सिर्फ ये है कि आप बबूल की छाल और गोंद को पीसकर दिन में करीब तीन बार इसका पानी के साथ सेवन जरूर करें जल्द ही लाभ मिलेगा।
9.अगर आप भी शुगर से ग्रस्त हैं तो आप गोंद के चूर्ण में गाय का दूध मिलाकर रोज इसका सेवन करें। इससे आपका शुगर कंट्रोल रहेगा।

धावडा गोंद (Dhawda Gond) खाने का तरीका (how to take Dhawda Gond) :

1) गोंद को पंजीरी में मिलाकर खा सकते हैं. आटे, मखाने, सूखे मेवे और चीनी को गोंद के साथ भूनकर पंजीरी बना सकते हैं.
2) नारियल के बूरे (खोपरा खीस), ख्श्ख्श सूखे खजूर,के दाने और बादाम को गोंद के साथ घी भूनकर लड्डू बनाए जा सकते हैं.
3) आप चाहें तो गोंद की चिक्की भी सकते हैं. गोंद के लड्डू की तरह ही इसकी चिक्की भी सर्दियों में काफी फायदेमंद होती है.
4) गोंद भूनते/तलते वक्त इस बात का ध्यान रखें कि यह जले नहीं और अत्यधिक भूरे रंग का न हो जाए. अगर ऐसा हुआ तो इसका स्वाद कड़वा हो जाएगा. 5) ऊपर दी गयी किसी भी चीज़ में ये ध्यान रखें की 1 खुराक में गोंद की मात्रा लगभग 5 ग्राम हो.
6) इसे रोज़ सुबह इस्तेमाल करें.

Additional information

Weight 200 g

Reviews

There are no reviews yet.

Be the first to review “Dhawda Gond (Edible Gum) Pack of 2 (100gm X 2)”

Your email address will not be published. Required fields are marked *